SEO क्या है और यह blogging के लिए जरूरी क्यों है? SEO कैसे करें पूरी जानकारी hindi में।

 

SEO kya hai और यह blogging के लिए  जरूरी क्यों है? आज के इस digital दुनिया में हर एक व्यक्ति अपनी अलग पहचान बनाना चाहते है और वो अपनी वीडियो के जरिए या फिर अपनी एक अलग website की मदद से अपनी बात को लोगों तक पहुंचा सकते है, लेकिन खुद को लोगों से जोड़ना काफी मुश्किल हो सकता है।

आज सभी अपने website या अपने content को search engine के top page पर लाना चाहते है क्योंकि जब भी कोई user अपनी information search करता है तो वह search engine के पहले पेज में visit करना पसंद करते है।

किसी भी website को टॉप 1 में लाने के लिए SEO करना बहुत जरूरी है। क्योंकि जब तक आपके पास traffic नहीं आती तब तक आपकी कोई पहचान नहीं होती और न ही आप अपने प्रोडक्ट या फिर अपने content को लोगों तक नहीं पहुंचा सकते। इसके लिए आपको अपने website या page का SEO करना काफी जरूरी है।

अपनी बात को लोगों तक पहुंचाने के लिए आपको search engine के पहले page पर आना होगा और इसके लिए किसी भी website को एक प्रकार का rule follow करना होता है और इसी प्रक्रिया को SEO कहते है।

लेकिन आप बार बार सोच रहे होंगे कि SEO क्या है (what is SEO in hindi)और SEO blogging के लिए जरूरी क्यों है? हम आपको SEO क्या है in hindi पोस्ट में SEO से जुड़े सभी टॉपिक को बताने वाले है तो चलिए step by step SEO in hindi पूरे विस्तार से जानते है

Introduction – History of SEO in hindi

सबसे पहले हम SEO क्या है जानने से पहले SEO के history के बारे में जानेंगे।

SEO की शुरुआत सन् 1996 में  हुई जब Lerry page और Brin ने मिलकर  search engine बनाए थे जिसका नाम Back Rub था और बाद में इसका नाम google पड़ा, जो अब तक का पूरे world में सबसे populer search engine है।

SEO kya hai – What is SEO in hindi?

SEO (Search Engine Optimisation) एक ऐसी process है जो search Engine में प्राप्त results को पहले पेज पर लाने का काम करती है जो एक algorithm based होते है, इस पूरी प्रक्रिया को SEO कहते है।

Search Engine के पहले top page results में अपने वेबसाइट के ranking को increase करने के लिए जिस प्रक्रिया को किया जाता है उसे SEO कहा जाता है जहा से लाखों traffic visit कर सकती है।

आज हर कोई अपने website या वेबपेज को Search Engine के पहले page में दिखाना चाहते है ताकि बहुत सारे ट्रैफिक उस वेबसाइट पर visit कर पाएं,  और उसके वेबसाइट कि ranking value increase हो सके।

और किसी website का SEO करना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि इंटरनेट यूजर को अपने किसी भी information की जानकारी तुरंत चाहिए होती है और visitor अपने जानकारी से related page के टॉप results में ही visit करना पसंद करते है।

SEO full form in hindi

SEO का मतलब  search engine optimisation है। जो organic search results  में वेब पेजों की उपस्थिति और स्थिति को बेहतर बनाने के लिए डिज़ाइन की गई प्रक्रिया का एक सेट है।

SEO का सीधा संबंध search engine से है क्योंकि organic search लोगों के लिए ऑनलाइन content खोजने और उन तक पहुँचने का सबसे प्रमुख तरीका है, आपकी वेबसाइट पर ट्रैफ़िक की गुणवत्ता और मात्रा को बढ़ाने के लिए एक अच्छी SEO आवश्यक है।

अब आप अच्छे से समझ चुके होंगे कि SEO क्या है लेकिन आप बार बार search engine देख रहे है तो मै आपको बता दूं कि आज पूरे world में google सबसे लोकप्रिय खोज इंजन में से एक है।

 

 

Search Engine क्या है Search Engine एक वेब आधारित tool या सॉफ्टवेयर है जो internet पर जरूरत अनुसार आपके किसी information को search करने में मदद करता है। Google आज के पूरे world में सबसे लोकप्रिय search engine में से एक है, इसके अलावा yahoo, Bing, Baidu इत्यादि भी खोज इंजन है।

Keyword :

search engine में हम किसी information या word को टाइप करते है जिसे keyword कहा  जाता है, जैसे search engine क्या है यह एक keyword है।

SERP :

SERP का पूरा नाम search engine result page होता है।जब आप  किसी चीज को search engine में search करते है जैसे what is SEO और उसके बाद उस keyword से related जो result list दिखाई देता है उसे SERP यानी search engine result page कहते है ।

SEO kya hai 

Search Engine Result Page

SEO के प्रकार – types of SEO in hindi

Basically तीन तरह की process होती है पेज को SEO (Search Engine Optimisation) करने की-

  • On-page-SEO
  • Off-page-SEO
  • Technical SEO

On page SEO आपके website के content से रिलेटेड चीजों पर काम करती है। जिससे वो search engine से direct organic traffic लाने में मदद करती है।

Organic traffic क्या है : Search Engine से किसी भी information ढूंढने के बाद वो डायरेक्ट आपके website में visit करना organic traffic कहलाता है

On page SEO का काम जब आप एक website ब्लॉग की शुरुआत करते है और उस ब्लॉग को पब्लिश करने तक जितना भी काम किया जाता है उसी समय से उसका optimisation शुरू हो जाता है।

आजकल सबसे ज्यादा blogging के लिए wordpress का इस्तेमाल किया जाता है, इसमें कई सारे free plugins मिल जाते है जिससे SEO करने में काफी आसान होता है।

On page SEO

On page SEO के कुछ factors के बारे में जानेंगे जो पेज को optimize करने में मदद करते है।

Keyword research

किसी भी कंटेंट लिखने से पहले keyword research पर ध्यान देना बहुत जरूरी है क्योंकि बिना keyword research किए आप किसी भी webpage को रैंक नहीं कर सकते है। किसी टॉपिक पर आप जब कंटेंट लिख रहे है तो आपको यह ध्यान देना होगा कि कम कॉम्पिटिशन वाले keyword को ही सेलेक्ट करें जिससे आपके पेज रैंक हो सकता है।

Keyword research कैसे करते है यदि आपको नहीं पता है तो आप keyword research kaise Karen यहां से आप keyword research सीख सकते है।

Title tag

जब आप keyword का चुनाव कर लिए है तो जिस main keyword से आप अपने पेज को रैंक करना चाहते है तो उसे ब्लॉग पोस्ट के title tag में अपने targeted keyword को डाल सकते है।

लेकिन जिस target keyword पर competion high है तो आप कम competion वाले keyword को main keyword के रूप में इस्तेमाल कर सकते है।

Meta description

इसमें आप पोस्ट रैंक करने के लिए जिस keyword का चुनाव किए है उसे meta description में जरूर शामिल करें।

Content quality

एक quality content के अंदर SEO के कुछ factors शामिल हो जाते है जैसे heading tag, table of contents, image optimisation इत्यादि। आप अपने कंटेंट के अंदर main keyword और relevant keywords को शामिल करें।

ध्यान रहें कि अपने main keyword को कंटेंट की शुरूवात में और heading tag में जरूर शामिल करें।और meta description, Permalink में भी keyword को सही तरीके शामिल करे

Image optimisation

Image को दो तरीके से ऑप्टिमाइज़ किया जाता है – पहला image का size ज्यादा है तो उसे compress कर उसकी size कम करें जिससे इमेज का loading time कम हो।

और दूसरा Alt tag में अपने main keyword का इस्तेमाल कर भी image को ऑप्टिमाइज़ किया जाता है, यह आपके SEO के लिए अच्छा है।

Internal linking

आप अपने ब्लॉग पोस्ट में उससे जुड़े दूसरे लिंक को भी जरूर add करें, जिससे visitor को उस टॉपिक को समझना और भी आसान हो पायेगा।

अभी आप जितने भी On page SEO factors के बारे में जाना है ये सभी factors आपके हैंडल में होती है, आप इसका इस्तेमाल कर अपने website को रैंक कर सकते है।

अब आप ऑन पेज SEO के बारे जान चुके है तो Off page SEO और Technical SEO के बारे में भी जानेंगे जिससे आपको अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को रैंक करने और भी आसानी होगी।

Off page SEO

Off page SEO में कुछ ऐसे techniques का उपयोग किया जाता है, जिससे आपके वेबसाइट कि रैंकिंग को boost करने के लिए  बाहरी support मिलता है।

Off page SEO की मदद से हमारे website की authority और traffic increase होती है। इसके लिए हमें कुछ इस तरह से काम करना होता है जैसे – 

Backlinks बनाना

जब हम अपने website या post के लिंक को दूसरे website के लिंक के साथ जोड़ते है तो वहां से हमें एक लिंक प्राप्त होती है जिसे backlink कहा जाता है। एक website का domain authority बढ़ाने के लिए backlink एक महत्वपूर्ण भाग है।

Backlink हम कुछ इस तरह से बना सकते है जैसे – guest posting, social bookmarking, forum submission इत्यादि।

ध्यान रहे कि आप जिस वेबसाइट से backlink प्राप्त कर रहे है उसकी quality अच्छी हो, जिससे आपको वहां से अच्छी traffic और आपके वेबसाइट या ब्लॉग पर कोई negetive effect न पड़े।

Social media sharing

आप social media में के माध्यम से अपने ब्लॉग को शेयर कर सकते है जहा से आपकी ट्रैफिक increase होगी।

Question and Answering Site

Question and answering site जैसे quara, google question hub जैसे साइट में भी आप अपने ब्लॉग से रिलेटेड question और answer देकर भी backlink प्राप्त कर सकते है।

Backlinks बनाने से जिससे वेबसाइट की DA (domain authority) बढ़ जाती है और यह वेबसाइट के लिए एक positive प्रभाव है।

और जिस वेबसाइट की DA ज्यादा होती है गूगल उसे एक trusted website मानता है। जिससे वेबसाइट की रैंकिंग पहले पेज में होती है।

Technical SEO

किसी भी website का user experiance तथा search bots के crawling और indexing की process में कोई भी रुकावट ना हो, जिससे यह SERP (search Engine Result Page) में अच्छा perform कर पाए। और साथ ही किसी भी यूजर को bad experience का सामना नहीं करना पड़े।

Technical SEO में नीचे दिए गए step को करना काफी जरूरी है। आप यहां से technical SEO kya hai पूरी जानकारी ले सकते है

Website Page speed

crawling,  indexing,

Robots.txt 

Duplicate content

Mobile friendly website

Search Engine कैसे काम करता है – how to work search engine in hindi.

SEO का क्या काम है उससे पहले हमें search engine कैसे काम करता है उसके बारे में जानना जरूरी है:-

वैसे कुछ search engine जैसे google, yahoo, Bing इत्यादि, किसी भी website को SERP लिस्ट के पहले पेज में लाने के लिए तीन steps follow करता है।

Crawling

Search engine bots, spiders या फिर जिसे crawler भी कहा जाता है यह एक ऐसे web crawler program है जो गूगल में submit  वेबसाइट तथा webpages को scan करते है।

तथा उसमें दिए लिंक से दूसरे webpage में चले जाते है और ऐसे करते हुए वो सारे वेबसाइट के data को अपने server में  स्टोर करते है। जिसे crawling कहा जाता है।

Indexing

Crawling की process complete होने के बाद bots द्वारा collect किए गए data को सही क्रम में व्यवस्थित कर search engine के server पर स्टोर कर दिया जाता है।

Google index की format में सारे वेब pages की डाटा जैसे title, discription, pamalink, internal link, external link इत्यादि को स्टोर करता है जिसे indexing कहा जाता है।

Ranking

यह search engine की तीसरी process है जिसमें गूगल decide करता है कि कौन से webpage या website को SERP में दिखाना है।

Web page के quality तथा विश्वनीयता पर ही उनका क्रम निर्धारित किया जाता है जिसे ranking कहा जाता है।

अब आप search engine कैसे काम करता है ये आप अच्छे से समझ पाएं होंगे और अगर हम SEO की बात करें तो उसके काम करने के दो primary objective है –

1. Search engine को अपनी वेबसाइट तक easily पहुंचने और समझने में मदद करता है।

2. Organically search Engine की मदद Website में useful traffic लाना जो convert हो सके चाहे वह sell हो, sign up हो या फिर किसी information की जानकारी लेना हो।

अब आप जान चुके है कि SEO का objective kya hai तो आगे हम SEO jobs in hindi. SEO का क्या काम है इसके बारे में step by step जानेंगे:

SEO feachers in Hindi

Website user experience

Website का design और user experience सबसे पहले आता है अगर वेबसाइट का design user friendly नहीं  है और उसमें visit करने वाला information को easily नहीं ढूंढ़ा जा सकता, तो वेबसाइट में लगाया गया efforts बेकार है। क्योंकि जब तक वेबसाइट user friendly है तो वेबसाइट का rank होना मुश्किल है।

Website’s design

Website का design simple होना चाहिए, pages के बटन क्लिक करने और पढ़ने में comfortable होना चाहिए और website का responsive और mobile friendly होना जरूरी है। क्योंकि वेबसाइट responsive और mobile friendly होने से google उसे रैंक करने में मदद करता है।

 

Website mobile friendly

किसी भी website mobile  पर अच्छे से दिखें इसके लिए responsive website theme का ही उपयोग करना चाहिए।

Setting tool from search engine

Google tools का set up करना जैसे google search console, google analytics,  tag manager, Microsoft webmaster, Facebook pixels जैसे tool को website के साथ लिंक करना या फिर set up करना जरूरी है।

Keyword research

Website किसी भी business के बारे में हो या फिर किसी भी information से रिलेटेड content हो उसके लिए अच्छे useful keyword research करना भी SEO का एक पार्ट है जो कि वेबसाइट को rank करने में helpful होता है।

Content planning and publishing

अच्छे keyword साथ और उसके लिए अच्छे कंटेंट लिखना या लिखवाना जो SEO फ्रेंडली हो यह भी SEO  का important factor है यह content पेज में कहां और किस तरह से publish होगा। यह भी SEO की responsibility है।

Blog के लिए SEO क्यों जरूरी है?

एक अच्छे ब्लॉग के लिए SEO इसलिए जरूरी है क्योंकि बिना SEO किए आपके अपने webpage का रैंक होना काफी मुश्किल हो जाएगा और ऐसे  में आपका किया गया मेहनत बेकार है।

यदि आप high quality content तैयार कर लिए और उसे पब्लिश कर भी दिए तो उस वेबसाइट में ट्रैफिक आना मुश्किल है यदि आपने सही तरीके से अपने webpage पर SEO नहीं किए है।

इन्हें भी पढ़े –

C language kya hai 

Java kya hai puri jankari

आपने क्या सीखा:

आज हम आपको SEO kya hai. इस पोस्ट  में SEO क्या है in Hindi , history of SEO तथा  SEO blog के क्यों जरुरी है इत्यादि के बारे में जाना है। SEO खुद में ही एक बहुत बदा टॉपिक है इसे और विस्तार से समझा जा सकता है। इसके बारे में हम आगे और भी विषय लेकर आएँगे। आपको यह पोस्ट कैसा लगा कॉमेंट करके जरूर  बताए।

 

 

Share on:

Leave a Comment