bitcoin kya hai | Bitcoin क्या है | or 1 bitcoin ka value kya hai?

Bitcoin क्या है– दुनिया के हर देशों में currency होती है जिसका इस्तेमाल सामान खरीदने और लेन-देन में किया जाता है। हर देश की currency अलग अलग होती है और उसका नाम और value भी देश के अनुसार ही होता है। जैसे भारत की currency है indian rupee (INR) जिसे रुपए के नाम से जाना जाता है।  अमेरिका की currency dollar ($) है और UK (United State) की currency pond है

उसी तरह हर देश की अपनी currency होती है और उसकी एक अपनी अलग value होती है। जिसका इस्तेमाल सामान के लेन देन के लिए किया जाता है। Internet में भी एक तरह की currency होती है जिसका इस्तेमाल online transaction के लिए किया जाता है।

जिसका  नाम है  बिटकॉइन(bitcoin)। Bitcoin internet में बहुत ज्यादा चर्चित में है। आज हम इस आर्टिकल में bitcoin के बारे में बताने वाले है, कि bitcoin क्या  है? (Bitcoin kya hai ) Bitcoin का इस्तेमाल कैसे किया जाता है? Bitcoin का use क्यों किया जाता है? एक Bitcoin की value कितनी होती है? और साथ ही bitcoin के इतिहास के बारे में बताने वाले है। 

Bitcoin की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए पूरी पोस्ट को जरूर read करें। और हमें पूरी उम्मीद है कि आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद bitcoin के बारे में बहुत कुछ जानने को मिलेगा। तो चलिए बिना देर किए शुरू करते है।

Bitcoin क्या है? What is Bitcon

Bitcoin एक प्रकार का currency है जिसका इस्तेमाल इंटरनेट (online transaction के लिए किया जाता है) में पैसों की तरह ही लेन – देन के लिए किया जाता है।  bitcoin को virtual currency के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि हम इस currency को पैसों की तरह न तो देख सकते है और न ही इसे हम छूने में सक्षम है। इसे digital currency भी कहा जाता है, क्योंकि इसका इस्तेमाल digital तरीके से किया जाता है। और इसे cryptocurrency के नाम से भी जाना जाता है। इसे केवल online wallet में ही स्टोर कर रखा जाता है।

यह एक डिसेंट्रलाइज करेंसी (decentralized currency) है। इसका मतलब यह है कि इसे कंट्रोल करने के लिए कोई भी बैंक नहीं है और न ही कोई government authority है।  इसका कोई मालिक (owner) ही नहीं है।

 

इसका इस्तेमाल कोई भी कर सकता है। जैसे हम सब इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और उसका भी कोई मालिक नहीं है। ठीक उसी तरह bitcoin भी है जिसके पास bitcoin होता है। वह उससे भौतिक रूप से चीजो की खरीदारी तो नहीं कर सकता बल्कि bitcoin का उपयोग ऑनलाइन ही किया जा सकता है। 

ऑनलाइन भुगतान के अलावा इसको दूसरे currency में भी बदला जा सकता है। अगर किसी के पास बिटकॉइन है तो वह उसे अपनी country की currency में बदलकर बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करने में सक्षम है। 

यह दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गई है। बिटकॉइन को किसी संस्था या अन्य बैंक के  द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता है इसका मतलब है कि इस currency के ऊपर किसी भी सरकार या बैंक का किसी भी तरह का कोई अधिकार नहीं है।

यही कारण है कि यदि bitcoin transaction के दौरान कोई धोखा होता है तो आप किसी के पास इसके बारे में शिकायत दर्ज नहीं कर सकते। लेकिन भी दुनिया के बड़े -बड़े  बिजनेसमैन और कई बड़ी कंपनियां इस करेंसी का इस्तेमाल करती है।

Bitcoin का इतिहास। History of Bitcoin.

Bitcoin का आविष्कार  सातोशी नकामोतो नामक एक अभियन्ता(engineer) के द्वारा 2008 में किया गया था और 2009 में इसे ग्लोबल पेमेंट के रूप में जारी किया गया था।

बिटकॉइन की शुरुआत  इस दुनिया में 3 जनवरी 2009 में हुई थी। यह विश्व का पहला ओपन पेमेंट सिस्टम है।

वर्तमान के इस समय में bitcoin लोगों के लिए बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय बन चुका है। 

Bitcoin को कहां पर इस्तेमाल किया जाता है और क्यों किया जाता है।

Bitcoin का इस्तेमाल हम ऑनलाइन पेमेंट (online payment) करने के लिए या फिर किसी भी तरह का संरक्षण करने के लिए कर सकते हैं। 

यह b2b (business to business) नेटवर्क पर आधारित है, जिसका मतलब है कि लोग एक दूसरे के साथ सीधे ही बिना किसी बैंक क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या फिर किसी बिना कंपनी के माध्यम से आसानी से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर सकते हैं।

अगर देखा जाए तो आम डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने में लगभग 2 से 3% लेनदेन शुल्क लगता है, लेकिन बिटकॉइन में ऐसा कुछ नहीं होता। इसके लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगती। इस वजह से भी यह काफी लोकप्रिय होता जा रहा है। 

आजकल बहुत से लोग बिटकॉइन को अपना रहे हैं। जैसे ऑनलाइन डेवलपर , entrepreneurs और नॉन-प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन आदि, और इसी वजह से बिटकॉइन का इस्तेमाल पूरी दुनिया में ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा रहा है। यह किसी अन्य क्रेडिट कार्ड की तरह इसमें कोई क्रेडिट लिमिट नहीं होती और न ही कोई नगद लेकर घूमने की समस्या है। यह दुनिया में कहीं भी कारगर है और इसके इस्तेमाल करने की कोई सीमा भी नहीं है।

क्या आप जानते है एक बिटकॉइन (bitcoin) की क्या value होती है।

वैसे bitcoin की value का कोई लिमिट नही होता है इसकी value कम या ज्यादा होती रहती है क्योंकि इसे कंट्रोल करने के लिए कोई governor authority नहीं है। इसलिए इसकी value, डिमांड के हिसाब से बदलती रहती है। Bitcoin की value प्रत्येक देश में अलग-अलग होती है क्योंकि इसका चलन विश्व बाजार में है।

हम आपको बता दें कि अभी यानी 2021 में एक Bitcoin की value, 1 BTC = 2431830.00 INR है। और अन्य देशों में इसकी value अलग – अलग होगी।

अब आपके मन में ये सवाल जरूर उठ रहा होगा की आखिर एक बिटकॉइन को कैसे पाया जा सकता है।

 

इसके लिए क्या करना होगा जिससे कि आपके पास में bitcoin आ जाए।

 

तो इसका भी जवाब हम आपको बता देते है। बिटकॉइन को हम दो तरीके से प्राप्त कर सकते हैं। 

बिटकॉइन को प्राप्त करने का पहला तरीका यह है कि अगर आपके पास बहुत पैसा है तो आप सीधे पैसे देकर बिटकॉइन ले सकते हैं। 

अगर आपके पास इतने पैसे नहीं है तो आप  फिर भी बिटकॉइन खरीदना चाहते है  इसका भी एक तरीका है। 

अगर आप एक पूरा बिटकॉइन खरीद नहीं सकते है तो आप उसका सबसे छोटा सा यूनिट satoshi खरीद ही सकते हैं। जैसे 1 रुपए में 100 पैसे होते हैं। 

ठीक उसी तरह 1 बिटकॉइन में 10 करोड़ satoshi होते है।

 

अगर आप चाहे तो बिटकॉइन के सबसे छोटी रकम satoshi खरीद सकते है और धीरे-धीरे 1 या उससे ज्यादा बिटकॉइन्स जमा कर सकते हैं। 

जब आपके पास छोटी रकम वाली काफी bitcoins जमा हो जाएगी। तब आप उसे बेचकर ज्यादा पैसे कमा सकते हैं। एक तरह से बिटकॉइन खरीद कर इस में इन्वेस्ट कर सकते हैं। 

Bitcoin कैसे खरीदें

भारत में तो बहुत ही मशहूर बिटकॉइन वेबसाइट है जहां से आप बिटकॉइन खरीद और बेच सकते हैं। उन वेबसाइट का नाम है zebpay.com और  unocoin.com है। 

इनमें से किन्हीं एक वेबसाइट से आप बिटकॉइन खरीद सकते हैं। Bitcoin खरीदने के लिए आपको इनमें से किसी एक वेबसाइट में अपना account बनाना होगा। Account बनाने के बाद आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, फोन नंबर, ईमेल और बैंक अकाउंट जैसी information को जमा(submit)  करना होता है।

Account बनाने के बाद आप बिटकॉइन मतलब डिजिटल करेंसी की लेन देन कर सकते है।

Bitcoin पाने का दूसरा तरीका है बिटकॉइन माइनिंग। आम भाषा में माइनिंग का मतलब यह होता है कि खुदाई के द्वारा खनिजों को निकालना जैसे सोना, कोयला आदि।

बिटकॉइन का अपना कोई भौतिक रूप नहीं है यही वजह है इसकी माइनिंग नहीं की जा सकती। 

इसलिए यहां पर माइनिंग का मतलब है बिटकॉइन का निर्माण करना।  जो एक कंप्यूटर पर ही संभव है। 

अर्थात नई बिटकॉइन बनाने के तरीकों को बिटकॉइन माइनिंग कहा जाता है। बिटकॉइन की माइनिंग बिटकॉइन माइनर  करते हैं।

इसके लिए हाई स्पीड प्रोसेसर, कंप्यूटर और माइनिंग सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है। हम बिटकॉइन का इस्तेमाल सिर्फ ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए करते हैं और जब कोई बिटकॉइन से पेमेंट करता है तो उस transaction को verify किया जाता है जो इन्हें verify करते है उन्हें miners कहा जाता है।

उनके पास हाई परफॉर्मेंस वाली कंप्यूटर और बहुत ही बेहतर हार्डवेयर होता है जिसके जरिए  वो ट्रांजैक्शन को verify करने में सक्षम होते है। वे एक विशेष प्रकार का कंप्यूटर का उपयोग करते है और  विभिन्न तरीके से लेनदेन(transaction) को पूरा कर पाते हैं और साथ ही नेटवर्क को भी सुरक्षित करते हैं।

 

इस verification के बदले उन्हें कुछ बिटकॉइन इनाम के तौर पर मिलते है। और इस तरीके से नई बिटकॉइन्स मार्केट में आते हैं लेकिन ट्रांजैक्शन verify करना इतना आसान नहीं होता। इसमें बहुत सारे मैथमेटिकल कैलकुलेशन होते हैं। उसे हल करना होता है जो की बहुत ही कठिन होता है। 

बिटकॉइन का निर्माण करने के लिए हाई स्पीड प्रोसेसर वाले कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है। माइनिंग का काम वही लोग करते हैं जिनके पास विशेष कैलकुलेशन करने वाली कंप्यूटर होती है और जिसमें बड़े-बड़े कैलकुलेशन करने की प्रबल क्षमता होती है। 

भारत में भारतीय रिजर्व बैंक लोगों को इस करेंसी में निवेश करने से रोक लगा रहा है और पहले से ही इसमें किसी भी प्रकार के निवेश को गैरकानूनी बताया गया है। लेकिन फिर भी लोग इसमें बड़ी संख्या में निवेश कर रहे हैं। 

भारतीय रिजर्व बैंक ने बिटकॉइन जैसी वर्चुअल करेंसी तथा डिजिटल मुद्राओं के लेनदेन को कोई आधिकारिक अनुमति नहीं दी है और इसका लेनदेन करना कई स्तरों पर खतरा भी है। 

1 फरवरी 2017 और 5 दिसंबर 2017 को रिजर्व बैंक के द्वारा  virtual currency के लिए सावधानी जारी की गई थी।

आपने क्या सीखा

दोस्तों हम आपको बिटकॉइन के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से देने की कोशिश की है। हम आपको इस आर्टिकल में bitcoin क्या है, और बिटकॉइन की value इंडिया में क्या है? इत्यादि के बारे में बताया है। वैसे बिटकॉइन की value हमेशा बदलती रहती है। अगर आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिला हो तो आप भी अपने दोस्तों को जरूर share कीजिए।

धन्यवाद।।

nishika nishu:

View Comments (0)