Artificial Intelligence का मतलब क्या है। और AI कैसे काम करता है।

क्या आपको पता है की Artificial intelligence का मतलब क्या है, आधुनिक युग में AI यानी Artificial Intelligence काफी चर्चा का विषय बन चुका है। जिसे हम कृत्रिम बुद्धिमत्ता के नाम से भी जानते  है। कृत्रिम बुद्धिमत्ता कंप्यूटर विज्ञान की एक ऐसी शाखा (branch) है।

जिसका मुख्य उद्देश्य बुद्धिमान मशीन तैयार करना है। Advance technology से बनने वाले मशीन को artificial intelligence कहा जाता है। जहां तक बात है AI की तो यह केवल मशीनों में इस्तेमाल ही नहीं  किए  जाते है बल्कि इसका यूज हमारे रोजमर्रा के जीवन  में इस्तेमाल होने वाले सॉफ्टवेयर या फिर मोबाइल एप्लीकेशन में भी इसका बहुत बड़ा योगदान है – जैसे google assistant, google map इत्यादि।

इस बढ़ती हुई डिजिटल वर्ल्ड ने तो मानो कई कदम आगे रख चुके है।  जहाँ कई सारे नए technologies का आविष्कार हो रहा है। sophia रोबोट AI एक बहुत अच्छा उदाहरण है जो एक इंसान की तरह कार्य करता है जैसे चलना, लोगों से बात करना, और अपने अनुभव से कुछ नया सीखना इत्यादि।   

दोस्तों आज  हम आपको  इस आर्टिकल Artificial Intelligence में वर्णन करने वाले है कि Artificial Intelligence का मतलब क्या है ( what is the meaning of artificial intelligence)?  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्या फायदे और नुकसान है। artificial intelligence कैसे काम करता है।  आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के अनुप्रयोग, क्या हमें artificial intelligence की जरुरत हैं? इत्यादि के बारे पूरे विस्तार से बताने वाले है।

विषय सूची :

  1. Artificial Intelligence का मतलब क्या है |(What is meaning of  artificial intelligence in hindi?)
  2. AI की शुरुआत कब और किसने की?
  3. कृत्रिम बुद्धि (AI) कैसे काम करता है | How does AI work in hindi?
  4. AI के अनुप्रयोग |   Applications of  Artificial Intelligence in hindi.
  5. AI में इस्तेमाल होने वाले computer languages
  6. AI के प्रकार। Types of Artificial Intelligence in hindi.
  7. Strong AI क्या है और वह Weak AI से कैसे अलग है।
  8. AI के फायदे और नुकसान क्या हो सकते है। 
  9. Artificial intelligence की हमें क्यों जरूरत है?

Artificial Intelligence का मतलब क्या है। What is the meaning artificial intelligence in hindi?

AI का मतलब है  Artificial intelligence  जिसे कृत्रिम बुद्धिमत्ता या फिर कृत्रिम दिमाग के नाम से  भी जाना जाता है। यहां कृत्रिम का अर्थ है मानव द्वारा निर्मित किया गया, तथा बुद्धिमता का मतलब है मनुष्य की तरह सोचने समझने की क्षमता।

यह एक कंप्यूटर नियंत्रित रोबोट  है। जो आमतौर पर बुद्धिमान प्राणियों से जुड़े कार्यों को करने की क्षमता रखता है। यह शब्द (AI ) अक्सर विकासशील प्रणालियों (machine) पर लागू होता है, जो मानव की बौद्धिक प्रक्रियाओं को प्रदर्शित करती है जैसे तर्क – वितर्क करना, समस्या का समाधान करना, या फिर कुछ नए अनुभवों से सीखने की क्षमता रखना। 

अगर आसान शब्दों में कहूँ तो Artificial intelligence कंप्यूटर विज्ञान (computer science) की एक विशेष शाखा है जो ऐसे कार्यों को करने में सक्षम है जिसमें आमतौर पर मानव बुद्धि की आवश्यकता होती है।

जिस प्रकार एक मानव दिमाग में सोचने समझने, निर्णय लेने तथा अपने अनुभव से कुछ नया सिखने की छमता होती है। ठीक उसी प्रकार  Artificial Intelligence का मुख्य उद्देश्य है की एक ऐसी मशीन दिमाग विकसित करना जिसमें computer इंसान की तरह सोचने समझने, निर्णय लेने , समस्या का समाधान करना तथा अपने अनुभव से कुछ नया सिखने की छमता रखता हो।

AI की शुरुआत कब और किसने की?

जब इंसान Computer के असली ताकत की खोज कर रहा था तब मनुष्य के दिमाग ने उन्हें यह सोचने पर मजबूर कर दिया कि क्या एक मशीन भी इंसान की तरह सोच सकता है, क्या वह किसी समस्या का समाधान कर सकता है या फिर क्या एक मशीन भी इंसान की तरह बुद्धिमान हो सकता है इत्यादि। तब से ही AI की विकास की शुरुआत हुई।

सन् 1955 में John McCarthy (जॉन मेकार्थी) जो एक American computer scientist थे जिन्होंने सबसे पहले इस टेक्नोलॉजी शब्द का इस्तेमाल किया और सन् 1956 में एक कांफ्रेंस के दौरान इसके बारे में बताया।

AI विकास करने का मुख्य उद्देश्य यही था कि एक ऐसी मशीन की संरचना की जाए जो एक मनुष्य की तरह सोचने समझने तथा सीखने की छमता रखता हो।

John McCarthy को artificial intelligence का पिता तथा AI का जनक भी कहा जाता है।

इन्हें भी पढ़ें

Artificial Intelligence कैसे काम करता है। How does AI work in hindi ?

AI सिस्टम का निर्माण एक मशीन में मानव गुणों और क्षमताओं को सावधानीपूर्वक करने की प्रक्रिया है,  यह समझने के लिए कि Artificial Intelligence वास्तव में कैसे काम करता है,  आप एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोर्स भी कर सकते हैं जिससे आपको व्यापक समझ हासिल करने में मदद मिलेगा ।

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस कई सारे टेक्नोलॉजी से मिलकर अपने कार्य को अंजाम देता है आइए हम कुछ technologies के बारे में जानते  है।

  1. Machine Learning

  2. Deep Learning

  3. Neural Network

  4. Natural Language Processing

  5. Computer or Machine Vision

Machine Learning जिसे short में ML कहा जाता है। यह AI का एक part है जो एक मशीन को यह सिखाता है कि पिछले अनुभव के आधार पर निष्कर्ष और निर्णय कैसे लें।  मशीन की सिखने की प्रक्रिया data  या observation से शुरू होती है तथा  यह किसी भी  पैटर्न की पहचान करता है।

ML स्पष्ट रूप से programme किये बिना ही system को automatically learn करना सिखाता है , इसमें सिस्टम को इतना कुशल बना दिया जाता है कि मशीनें अगली बार से अपने पिछले अनुभव के अनुसार खुद ही किसी कार्य को पूरा कर सकें और लगातार उसमे सुधार कर सकें।

Deep Learning AI का एक फंक्शन है जो Data को process करने और निर्णय लेने के लिए पैटर्न बनाता है और मानव मष्तिष्क के कामकाज की नकल करता है। या फिर हम कह सकते है की Deep लर्निंग AI में machine learning का एक subset है जो एक  मशीन को,  परिणामों को वर्गीकृत करने, अनुमान लगाने और भविष्यवाणी करने  सिखाता है।

Neural Network  मानव मष्तिष्क के विश्लेषण और सूचनाओं को संशाधित (processed ) करने के तरीके को अनुकरण करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह AI की नींव है यह उन समस्याओं को हल करती है जो मनुष्य द्वारा असंभव या कठिन होती है।

न्यूरल नेटवर्क में खुद से सिखने की छमता होती है जो अधिक डेटा उपलब्ध होने पर उन्हें बेहतर परिणाम देने में  सक्षम होती है।

Natural Language Processing (NLP )एक ऐसा प्रोसेस जो किसी मशीन द्वारा  भाषा को पढ़ने, समझने, तथा उसकी व्याख्या करने करने में सक्षम होती है । एक बार जब  मशीन यह समझ जाती है कि उपयोगकर्ता क्या संवाद करना चाहता है, तो वह उसी के अनुसार प्रतिक्रिया करता है।

Computer vision  AI का एक हिस्सा है जो कंप्यूटर को दृश्य दुनिया की व्याख्या और समझने के लिए प्रशिक्षित करता है यह कैमरे , वीडियो और डीप लर्निंग मॉडल से डिजिटल छवियों का उपयोग करके, मशीन वस्तुओं को सटीक रूप से पहचान और वर्गीकृत कर सकती है। और वे जो देखती है उसी पर प्रतिक्रिया करती है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रमुख अनुप्रयोग (Applications of Artificial Intelligence in Hindi)

आज के समय में AI की लोकप्रियता काफी बढ़ गयी है। आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के विभिन्न अनुप्रयोग है, और यह आज के समय के लिए आवश्यक होता जा रहा है इसका उपयोग विभिन्न छेत्रों में किया जा रहा है जैसे स्वास्थ्य देखभाल, मनोरंजन, शिक्षा के छेत्र तथा कई उद्योगों में जटिल समस्याओं को एक कुशल तरीके से हल कर सकता है।

AI हमारे दैनिक जीवन को अधिक आरामदायक और तेज बना रहा है। AI का इस्तेमाल हम कहीं न कहीं अपने दैनिक जीवन में भी करते है। आइए कुछ उदाहरणों से समझते है जिससे आप और बेहतर तरीके से समझ पाएंगे की Artificial Intelligence का मतलब क्या  है।

AI assistent

AI Assistent को vertual या digital assistent के नाम से भी जाना जाता है।  यह  एक ऐसा प्रोग्राम है जो voice command को समझता है। यह उपयोगकर्ताओं द्वारा प्राकृतिक भाषा में दिए गए कार्यों को समझने और निष्पादित करने के लिए प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण (Natural Language Processing) का उपयोग करता है।

कंपनियां ऑटोमेशन के जरिए हर इंसान के काम को मशीन में  बदलने पर काम कर रही हैं।

AI एप्लीकेशन  का लक्ष्य कि वे  personal assistent की मदद से आपके  द्वारा दिए गए  कार्यों को अंजाम दें |  जैसे इंटरनेट पर इनफार्मेशन सर्च करना , पाठ पढ़ना , map बताना , फ़ोन कॉल लगाना , किसी भी application को ओपन करना , यहाँ तक वो अलार्म भी सेट करने में आपकी मदद कर सकता है।

AI अस्सिस्टेंट का सबसे अच्छा उदाहरण है – Siri यह एक ऐसी AI अस्सिस्टेंट है जो iphone तथा ipad में इस्तेमाल किया गया  है यह आपके द्वारा दिए गए  हर voice command को समझती है , वैसे ही google assistent , Alexa ये भी AI अस्सिस्टेंट है जो siri की तरह ही कार्य करती है।

AI in Smart Car

दुनिया भर में car manufacturs कर बनाने की प्रक्रिया में लगभग हर पहलु में AI का इस्तेमाल कर रहे है। जो किसी वाहन के शुरुआती नट और वोल्ट को एक साथ रखता है जिससे वाहन सुरक्षित रूप से ट्रैफिक में भी बिना नुकसान के अपना रास्ता बना सके। एक self ड्राइविंग कार में मशीन लर्निंग और कंप्यूटर विज़न का उपयोग किया जाता है।

AI in Gaming

अधिकांश वीडियो गेम चाहे वे racing car , shooting game या फिर strategy game जैसे शतरंज, chees जैसी विशेषता वाले गेम हो , इन सभी में अलग – अलग घटक होते है जिसमें AI सबंधित एप्लीकेशन का उपयोग होता है।

गेमिंग में AI का उपयोग करने का मुख्य उद्देश्य है खिलाडियों को vertual platform पर एक-दूसरे के खिलाप लड़ने के लिए गेमिंग अनुभव प्रदान करना। इसके अलावा AI गेमिंग में लम्बे समय तक खिलाड़ी की रूचि और संतुष्टि को बढ़ाने में मदद करता है।

AI in healthcare:

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस स्वास्थ्य सेवा छेत्र में विभिन्न अनुप्रयोगों का पता लगाता है। AI का उपयोग स्वास्थ्य सेवा में परिष्कृत मशीनों के निर्माण के लिए किया जाता है जो बिमारियों का पता लगा सकती हैं और कैंसर जैसे बिमारियों का भी पता लगा सकती है।

healthcare industries इंसानों से बेहतर और रोग निर्णय करने के लिए AI का उपयोग कर रही है। AI डॉक्टरों को रोग निदान या बीमारी को पकड़ने में मदद करता है और यह भी सूचित कर सकता है की रोगी की स्थिति बिगड़ रहा हैं ताकि डॉक्टर रोगी का इलाज और भी सही तरीके से कर सके।

AI in Robotics

रोबोट का उपयोग अब दुनिया भर ग्राहक सेवा क्षमता में किया जा रहा है , इनमें से अधिकांश रोबोट ग्राहकों से मानवीय तरीके से बातचीत करती है। जिसके लिए AI अनुप्रयोग natural language processing का उपयोग किया गया है। अक्सर ये मशीन जितना ज्यादा मनुष्यों के साथ बातचीत करती है उतना ही वे सीखती हैं।

सोफिया नाम की एक रोबोट जो सऊदी अरब की है यह लोगों से बात करती है। इसके हाव – भाव बिलकुल मनुष्य के जैसे है , यह लोगों के हाव-भाव को समझ लेती है। यह रोबोट भारत भी आ चुकी है।

AI के फायदे (Benefit)

Artificial Intelligence के फायदे बहुत बड़े है यह किसी भी पेशेवर field में क्रांतिकारी बदलाव ला सकते है | आजकल हर छेत्र में  AI का काफी इस्तेमाल हो रहा है

मानवीय त्रुटि में कमी 

मानव त्रुटि का जन्म इसलिए हुआ क्योंकि मनुष्य समय समय पर गलतियां करता है। हालांकि कंप्यूटर ऐसी गलती नहीं करते, अगर उन्हें ठीक से प्रोग्राम किया जाए।

AI में, algorithm के एक निश्चित सेट को लागू करने वाली पहले से एकत्रित जानकारी से निर्णय लिए जाते है। इसलिए त्रुटियां कम हो जाती है और अधिक सटीकता से काम करने में सक्षम होती है।

तेज निर्णय लेना 

अन्य तकनीकों के साथ साथ AI का उपयोग करके मशीनों को मानव की तुलना में तेजी से निर्णय लेने और तेजी से काम करने में सक्षम बना सकते है।

AI powered Machine उस पर कार्य करती है जिसमें उसे प्रोग्राम किया जाता है और यह परिणाम बहुत तेजी से वितरित करता है।

दैनिक  अनुप्रयोग 

Apple की siri हो या फिर google की ok google जैसे दैनिक application अक्सर हमारे दैनिक दिनचर्या में में उपयोग किए जाते है , चाहे वो स्थान ढूंढने, फोन कॉल्स लगाने, मेल का जवाब देने या फिर किसी information को search करने के लिए हो।

उदाहरण: अगर आपको किसी जगह के बारे में पता करना है तो आपको “ok google Delhi कहां है” बस इतना करना है। यह आपको google map पर Delhi का जगह और आपके और Delhi के बीच का सबसे अच्छा रास्ता बताएगा।

 

AI के नुकसान (Loss)

Artificial Intelligence के प्रकार (Types of Artificial Intelligence in Hindi)

टेक्नोलॉजी के इस युग मे, Artificial intelligence सभी इंडस्ट्रीज और कई क्षेत्रों में हावी होने लगी है। इसकी सबसे बड़ी वजह मशीन का मानव की तुलना में अधिक प्रभावी ढंग से कार्य करना है। तो वो दिन दूर नही जब किसी हॉलीवुड मूवीज की तरह रोबोट्स का दबदबा हमारी दुनिया पर होगा। AI या जिसे हम machine learning भी कहते है इसको दो प्रकार के मुख्य भागों में बांटा जाता है।

पहला भाग

Week AI

Strong AI

दूसरा भाग: 

Reactive Machines

Self-Awareness

Limited Memory

Theory of Mind

Strong AI क्या है और वह Weak AI से कैसे अलग है।

AI में इस्तेमाल होने वाले computer languages

Artificial intelligence की हमें क्यों जरूरत है?

 

Conclusion :

हम इस पोस्ट की मदद से Artificial Intelligence के बारे में  विस्तार सेजानकारी देने की कोशिश की है। हमने इस पोस्ट में Artificial Intelligence का मतलब क्या है?  AI  कैसे काम करता है, क्या हमें Artificial इंटेलिजेंस की जरुरत है, इत्यादि के  बारे बताया है।

 

 

Share on:

2 thoughts on “Artificial Intelligence का मतलब क्या है। और AI कैसे काम करता है।”

Leave a Comment